भारत के 5 रहस्यमय गांव Mysterious Village in India

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करेंगे भारत के ऐसे गांव जो बाकी भारत से अलग है। कुछ गांव उनके रीती रिवाज़ के लिए चर्चे में है तो कुछ गांव उनके अनसुलझे रहस्य के लिए अगर आपके पास भी ऐसे गांव है तो हमे कमेंट करके जरूर बताये। तो चलिए सुरु करते का Mysterious Village in India सफर।

Table Of Contents

Mysterious Village in India

मलाणा गांव Malana Village
 Malana Village, Mysterious Village in India
photo source- phototerrainspotter.com

◼ सिकंदर ने पूरी दुनिया पे राज़ किया ऐसे सिकंदर का वंशज आपको मिलेंगे इस गांव में मलाणा गांव हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में बसा हुआ है यह पुराना प्राचीन गांव है कहां जाता है गांव का इतिहास बहुत ही पुराना है यहां के लोग मुगल बादशाह अकबर की पूजा करते है और खुद को सिकंदर का वंश मानते हैं

◼ यहां के रहने वाले लोग भारत का संविधान भी नहीं मानते उनके खुद के कानून और नियम है जिनका वह बहुत सक्ती से पालन करते है इनका मानना है कि नियम तोड़ने से हमारे देवता नाराज हो जायेंगे जिससे पूरा गांव तबाह हो जाएगा क्योंकि मनाना के लोग अपने आप को सर्वश्रेष्ठ इंसान मानते हैं यहां पर दूसरे किसी बाहरी लोगों ने उनके मंदिर, घर या फिर दुकान को छू लिया तो 1000 से 2000 तक जुर्माना लगता है

◼यहां आने वाले टूरिस्ट को गांव में रुकने के मनाई है टूरिस्ट के लोगो से पैसा भी हाथ को छुए बिना लेते है। शादी भी गांव के लोगो से की जाती है। वो अपने नस्ल में मिलावट नहीं करना चाहते है इसलिए बहार की दुनिया से दूर रहते है। गांव वाले जमलू ऋषि की पूजा करते हैं इस गांव के इतिहास के मुताबिक इस गांव का कानून और नियम जमलू ऋषि ने ही बनाया था

◼ गांव वालों के मुताबिक सिकंदर ने भारत पर आक्रमण किया और तब कुछ उसके सैनिकों ने सेना छोड़ दिई और यहां पर बस गए वहीं यहां पर साल में एक बार फागली उत्सव मनाया जाता है जिसमें यह लोग मुगल सम्राट अकबर की पूजा करते है
यहां की भाषा भी बहुत अलग है यहां पर बोली जाने वाली भाषा ग्रीक,संस्कृत और तिब्बत के भाषाओं का मिश्रण मिलेगा जो आसपास की बोली भाषा से मेल नहीं खाती

कोडीनी गांव Kodinh Village
Kodinh Village Mysterious Village in India
photo source- historyindia.com

◼ केरल का एक ऐसा गांव जहां के रहस्य को विज्ञान भी नहीं सुलझा पाया मल्लापुरम जिले में ये गांव स्थित है ईस गाव मे 300 से ज्यादा जुडवा बच्चे हैं जी हां यहां हर एक घर में जुड़वां बच्चे जनम लेते हैं इसके अलावा ईस गाव मै आपको एकसाथ तीन बच्चे भी जनम लेते हैं इस गांव को सरकार भी Village of Twins कहा जाता है


◼ और इसके साथ कोडिनी गाव एक और बात अजीब है यहां की महिलाएं अगर किसी और गांव में शादी करके जाती हैं तो भी उनके जुड़वा बच्चे होते हैं इसपर कई वैज्ञानिकों ने भी रिसर्च की है और अभी तक जवाब नहीं मिला है


◼ उनका मानना है कि ये यहां के पानी की वजह से है इधर रहने लोगों का मानना है कि ये देवताओं का आशीर्वाद है
यह गांव कालीकट गांव के एयरपोर्ट से 40 किलोमीटर दूरी पर है यहा पर इस गांव मै टुरिस्ट लोग उन बच्चों को देखने के लिए भी देश विदेश से लोग आते है Mysterious Village in India

कुलधरा Kuldhara Haunted Village
kuldhara Village Mysterious Village in India
photo source- nfoadda.in

◼ क्या आपने कुलधरा गांव के बारे में सुना है राजस्थान का ये गांव काफी ज्यादा प्रसिद्ध है इस गांव में आपको इंसान नहीं सिर्फ खाली घर और खंडहर दिखेंगे कहा जाता है कि 200 साल पहले ये गांव 5000 पालिवाल ब्राह्मणों का घर था


◼ इस गांव के लोगों पर जैसलमेर का दीवान सलीम सिंह अत्याचार करता था वो पैसा गहना-दागीना वसूल करता था इसके बाद सलीम सिंह की नजर गांव के पुजारी की बेटी पर पड़ी और उसे पसंन्द आ गयी पुजारी की बेटी से शादी का प्रस्ताव रखा नहीं तो सलीम सिंह ने गांव वालोंको जान से मारने की धमकी दी


◼ लड़की को बचाने और सलीम सिंह के डर से बाहर निकलने के लिए रातों-रात पूरा गांव खाली हो गया
किसी ने भी गांव के 5000 लोगों को जाते नहीं देखा कहा जाता है कि इस गांव को वो लोग श्राप देकर चले गए कि यहां अब कोई नहीं बस पाएगा तब से आज तक यह गांव खंडर बना हुआ है। यहाँ पर रहने की कोशिश बहोत सारे लोगो ने की थी लेकिन रह नहीं पाए थे। यहाँ पर आत्मा देखे जाने की बात होती है। अब यह जगह भूतिया जगह बन गयी है। Maharashtra Haunted Ghost Place

◼ जैसलमेर से करीब 18 किलोमीटर दूरी पर स्थित है कुलधरा नाम का एक छोटा सा गांव कहते हैं सन 1291 के आसपास रईस और मेहनती पालीवाल ब्राह्मणों ने 600 घरों के साथ इस गांव को बसाया था
यह भी माना जाता है कि कुलधरा के आसपास 84 गांव थे और इन सभी में पालीवाल ब्राह्मण ही रहते थे

मत्तूर Mattur
Mattur Village Mysterious Village in India
photo source- holidify.com

◼ एक ऐसा गांव भी है जहा संस्कृत भाषा बोली जाती है। इस गांव की प्रमुख भाषा संस्कृत है यहाँ मुस्लिम लोग भी संस्कृत में बात करते है।

◼ कर्नाटक के बागलकोट जिले मै मत्तूर गाव है बंगलुरू से करीब 300 km दुर है मत्तूर गांव इस गांव की खासियत ये है कि यहां के रहने वाले की भाषा में कन्नड़ नहीं संस्कृत बोलते हैं यहां छोटे बच्चों से लेकर बुढौं तक और हिंदूओं से लेकर मुस्लमानों तक सभी लोग संस्कृत भाषा में बोलते हैं


◼ 10 साल की उम्र में ही बच्चों को वेदों के ज्ञान दे दिया जाता हैं यहां के गांव वालों का कहना है कि करीब 600 साल पहले केरल के संकेथी ब्राह्मण समुदाय के लोग यहां आकर रहे थे तब वो रहने वाले लोग संस्कृत मै बात करते थे
फिर उन्होने रोज 2 घंटे के अभ्यास से पूरा गांव संस्कृत में बात करने लगा

◼ मत्तूर गांव में 500 से ज्यादा परिवार रहते हैं जिनकी संख्या तकरीबन 3500 के आसपास है वहीं मध्य प्रदेश में भी एक गांव है जहां हर कोई केवल संस्कृत में बात करता है यह गांव राजगढ़ जिले का झिरी गांव, एक हजार की आबादी वाले इस गांव में 70 फिसदी लोग संस्कृत में बात करते हैं झिरी के लोगों के मुताबिक उनके गांव का नाम कर्नाटक के मत्तूर गांव से पहले आना चाहिए क्योंकि मत्तूर में 80 फीसदी आबादी ब्राह्मणों की है
जिन्हें संस्कृत विरासत में मिली है और झिरी में केवल एक ब्राह्मण परिवार है और बाकी क्षत्रिय और अनुसूचित जाति के लोग हैं जो आपस में संस्कृत में बात करते है

शनि शिंगणापुर
Shani Shingnapur Mysterious Village in India
Photo source- openthemagazine.com

◼ महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में नेवासा तालुके में यह गांव स्थित है शनि शिंगणापुर, महाराष्ट्र का एक ऐसा गांव जहां इसके एक भी घरों में दरवाजा नहीं बनाया और यहां कभी भी चोरी नही होती यहां पर शनिदेव का प्राचीन मंदिर स्थित है


◼ ऐसा कहा जाता है कि चोरी करने वाला शनिदेव की प्रकोप से नही बच सकता यहां तक की यहां की दुकान , बैंक, मंदिर और स्कूल को भी दरवाजा नहीं है घर में दरवाजा नहीं होने के बावजुदभी यहां अभी तक कभी भी चोरी नहीं हुई लोगों का मानना है कि उनकी घर की रक्षा खुद शनिदेव करते हैं ऐसा यहां तक 350 साल से चलता आ रहा है


◼ यहां के रहने वाले लोगों के मुताबिक आज से करीब 350 साल पहले जोरदार बारिश हुई थी जिसमें सभी घरों के दरवाजे बेह गए थे और उसी बारिश के दौरान एक 5 फीट से बड़ी और एक फिट से चौडी एक काले पत्थर की शीला बहकर आई यह शीला गांव के किनारे पेड़ के स्थित सहारे खड़ी हो गई और उसे देखकर लोग जब हटाने लगे तो उस पत्थर से खून बहने लगा इसी कारण उसे वहीं छोड़ दिया और उसके बाद किसी के सपने में खुद शनि महाराज आकर कह गए किसी को दरवाजा लगाने की जरूरत नहीं इसके बाद लोगों शनीदेव की प्रतिमा को पुजना शुरू करदीया और उसका मंदिर बना दिय
और माना जाता है कि शनि देव शनि शिंगणापुर में बहुत सारे चमत्कार किए हैं

टिल्टेपक Tiltepec Village Mexico
Tiltepec Villag Mysterious Village in Mexico
Photo source- khabardailyupdate.com

अब एक और BONUS गांव जो मेक्सिको में है इसका नाम टिल्टेपक है

◼ जहां जोपोके नाम से जनजाति रहती है इस गांव की सबसे खास बात यह है कि यहां पर इंसान सब अंधे हैं
इतना ही नहीं इधर के पशु पक्षी और जानवर इनकी सबकी देखने की रोशनी चली गई है दरअसल यहां पैदा होते वक्त बच्चे सही सलामत और स्वस्थ होते हैं और बाद में उनकी देखने की रोशनी चली जाती है

◼ यह के रहने वाले लोग अपने अंधेपन की वजह शापित पेड को मानते हैउनके मुताबिक लावजुएजा पेड़ को देखने के बाद इंसान से लेकर जानवर तक सब अंधे हो जाते हैं


◼ लेकिन वैज्ञानिकों ने बताया इस अंधेपन के पीछे की वजह एक काली किसम की मक्खी जो बहुत ही ज्यादा जहरीली है उसके काटने पर सबसे ज्यादा असर आंखों की नसों पर होता है और आदमी धीरे-धीरे पूरी तरह से अंधा हो जाता है

◼ इस गांव की ओर एक खास बात है कि यहां के किसी भी घरों में खिड़कियां नहीं है इसके पीछे की वजह भी इनके अंधापन है आंखों की रोशनी चले जाने के बाद इनको सूरज की रोशनी से कोई फर्क नहीं पड़ता
ईस कारण इनके घरों में खिड़कियां नहीं होती

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *